गणित की विशेषताएं

819

गणित की विशेषताएं – गणित विषय की अपनी एक अलग प्रकृति है। जिसके आधार पर हम उसकी तुलना किसी अन्य विषय से कर सकते हैं। किन्ही दो या दो से अधिक विषयों की तुलना का आधार उन विषयों की प्रकृति ही है जिसके आधार पर हम विषय के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं। गणित की विशेषताएं को निम्नलिखित बिंदुओं द्वारा भली-भांति समझा जा सकता है-

गणित की विशेषताएं
गणित की विशेषताएं

गणित की विशेषताएं

गणित की विशेषताएं निम्न है-

  1. गणित के ज्ञान का आधार हमारी ज्ञानेंद्रियां हैं।
  2. इसके इसके ज्ञान का आधार निश्चित होता है जिससे उस पर विश्वास किया जा सकता है।
  3. गणित में संख्याएं स्थान दिशा तथा मापन या माहौल का ज्ञान प्राप्त किया जाता है।
  4. इसमें इसमें मात्रात्मक तथ्यों एवं संबंधों का अध्ययन किया जाता है।
  5. यह विज्ञान का अमूर्त रूप है।
  6. यह तार्किक विचारों का विज्ञान है।
  7. गणित के अध्ययन से मस्तिष्क में तर्क करने की आदत स्थापित होती है।
  8. यह आगमनात्मक तथा प्रायोगिक विज्ञान है।
  9. गणित वह विज्ञान है जिसमें आवश्यक निष्कर्ष निकाले जाते हैं।
  10. गणित विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के अध्ययन में सहायक ही नहीं बल्कि उनकी प्रगति तथा संगठन की आधारशिला है।
  11. गणित का ज्ञान उपयोग विज्ञान की विभिन्न शाखाओं जैसे भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान आदि के अध्ययन में किया जाता है।
  12. इससे बालकों में स्वच्छता का वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित होता है।
  13. गणित के अध्ययन से बालकों में आत्मविश्वास एवं आत्मनिर्भरता का विकास होता है।
गणित का अर्थगणित का महत्व
गणित की विशेषताएंगणित की भाषा और व्याकरण
आधुनिक गणित का विकासगणित की प्रकृति
गणित का इतिहासयूक्लिड और उनके ग्रंथ
रैनी देकार्ते के योगदानपाइथागोरस और उनके योगदान
गणित शिक्षण के मूल्यगणित शिक्षण के उद्देश्य
आदर्श गणित अध्यापक के गुणगणित प्रयोगशाला
गणित में पाठ्यपुस्तक का महत्वगणित पाठ योजना

गणित का महत्व

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.