विस्थापन के कारण

विस्थापन के कारण – विस्थापन शब्द अंग्रेजी भाषा के Displacement शब्द से बना जिसका अर्थ है अपना स्थान बदलना। जब कोई व्यक्ति अथवा समूह किसी कारण से अपने स्थाई स्थान से हटा दिया जाता है तो इस क्रिया को विस्थापन कहते हैं। जबकि हटाए गए व्यक्ति को विस्थापित कहते हैं। उदाहरण के लिए भारत में बड़े-बड़े बांधों के बनाए जाने से उसके समीप आने वाले डूबते क्षेत्र में आने वाले गांवों तथा बस्तियों की सुरक्षा की दृष्टि से किसी अन्य क्षेत्र में बसाया जाता है यह विस्थापन का उदाहरण है।

BA Second Sociology I

विस्थापन के कारण

विस्थापन के कारण अनेक हो सकते है। विस्थापन के प्रमुख कारण निम्न है-

1. प्राकृतिक कारण

विस्थापन के इस कारण के अंतर्गत बाढ़ सूखा भूकंप वह महामारी आदि आते हैं। इससे एक साथ कई गांव या कस्बे उजड़ जाते हैं। परिणाम स्वरूप जनता को अन्य स्थानों पर विस्थापन करना पड़ता है। इसका ज्वलंत उदाहरण गुजरात का भूकंप है।

2. आर्थिक कारण

विस्थापन के इस कारण के अंतर्गत गरीबी और बेरोजगारी आती है। गरीबी और बेरोजगारी के कारण व्यक्तियों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर विस्थापित होना पड़ता है। ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के साधनों का अभाव है। जिसके कारण व्यक्ति शहर की ओर पलायन करता है क्योंकि शहर आय के स्रोत होते हैं।

विस्थापन के कारण
विस्थापन के कारण

3. राजनीतिक कारण

राजनीतिक उथल-पुथल के कारण लोग एक स्थान से दूसरे स्थान पर विस्थापित होते हैं। उदाहरण के रूप में तालिबान उग्रवादियों द्वारा उपद्रव मचाने के कारण लोग अफगानिस्तान छोड़कर आसपास के क्षेत्रों में पलायन कर गए। उपरोक्त कारणों के अतिरिक्त कुछ और भी कारण है जो निम्न है-

  • युद्ध – जब किसी देश का युद्ध छिड़ जाता है, तो वहां की जनता को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जिसके कारण वह एक स्थान से दूसरे स्थान पर पलायन करने लगती है। उदाहरण के रूप में प्रथम और द्वितीय विश्व युद्ध के समय अमेरिका ने जापान के 2 शहरों हिरोशिमा तथा नागासाकी को नष्ट कर दिया। परिणाम स्वरूप वहां की जनता को रहने के लिए अन्य क्षेत्रों में पलायन करना पड़ा।
  • औद्योगिकरण एवं नगरीकरण ग्रामीण क्षेत्रों के अधिकांश लोग शिक्षा चिकित्सा नगरों की विशेष सुविधाओं के कारण नगरों की ओर पलायन कर जाते हैं। इसी कारण नवीन उद्योगों के निर्माण के लिए अनेकों बसे बसाई गांवों को उजाड़ दिया जाता है। परिणाम स्वरूप वहां के निवासियों को अन्य स्थान पर जाना पड़ता है।
  • आतंकवाद के भय से भी लोग स्थान छोड़कर अन्य स्थानों पर पलायन कर जाते हैं।

4. सामाजिक कारण

विस्थापन के लिए सामाजिक कारण भी उत्तरदाई होते हैं। डॉक्टर एम एन श्रीनिवासन ने संस्कृतिकरण की प्रक्रिया के कारण लोगों के स्थान परिवर्तन के कई उदाहरण दिए हैं। कुछ गांव के लोग प्रभु जातियों के उत्पीड़न के कारण गांव को छोड़कर नगर में विस्थापित हो गए हैं।

आप विस्थापन के कारण Sarkari Focus पर पढ़ रहे हैं।

5. नगरीकरण

गांव के लोग शहरों की चमक दमक को देखकर गांव को छोड़कर नगरों की ओर चले गए हैं। इस प्रक्रिया को नगरीकरण कहते हैं। यह भी विस्थापन का एक प्रमुख कारण है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.