व्यायाम के लाभ

व्यायाम के लाभ

मानव जीवन में स्वस्थ शरीर का महत्त्व :

किसी ने ठीक ही कहा है ‘पहला सुख नीरोगी काया, जिसका आशय है कि वही व्यक्ति सुखी है जिसका शरीर पूरी तरह से स्वस्थ तथा नीरोगी है । मानव जीवन में शारीरिक स्वास्थ्य का बहुत महत्त्व है । इस संसार में अनेक प्रकार के सुखों का भोग तथा कर्तव्यों की पूर्ति केवल स्वस्थ व्यक्ति ही कर पाता है । अस्वस्थ तथा रोगी मनुष्य न तो अपना कुछ हित कर सकता है तथा न ही देश और समाज के लिए कुछ कर पाता है क्योंकि स्वस्थ शरीर ही हमारी सभी प्रकार की साधनाओं का माध्यम है।

स्वास्थ्य लाभ के साधन

अच्छे स्वास्थ्य की प्राप्ति के लिए खेलना – कूदना , दंड – बैठक करना, प्रातःकाल का भ्रमण, तैराकी, योगाभ्यास आदि का सहारा लिया जाता है। व्यायाम भी स्वास्थ्य लाभ का एक प्रमुख साधन है। खेल – कूद दंड – बैठक, योगाभ्यास आदि भी किसी न किसी प्रकार के व्यायाम ही हैं। इनमें से किसी को भी चुना जा सकता है । व्यक्ति अपनी रुचि, इच्छा, उपलब्धता तथा शक्ति के अनुसार किसी को भी चुन सकता है। प्रातःकाल उठकर भ्रमण पर जाना बिना मूल्य का अनमोल व्यायाम है।

व्यायाम से लाभ

व्यायाम से शरीर सुडौल बनता है, शरीर में रक्त का संचार होता है, मन – मस्तिष्क भी स्वस्थ रहता है तथा व्यक्ति चुस्त, फुर्तीला तथा नीरोगी बना रहता है। नित्य व्यायाम करने से भूख समय पर लगती है तथा पाचन शक्ति ठीक रहती है । शरीर के अंग – प्रत्यंग बलिष्ठ हो जाते हैं, शरीर स्फूर्तिमय हो जाता है, आलस्य दूर भागता है तथा शरीर में रक्त संचार तीव्र गति से होता है। स्वस्थ व्यक्ति प्रसन्नचित्त रहता है तथा उसका मन प्रत्येक प्रकार के काम में भली – भाँति लगता है। यदि हमारा शरीर स्वस्थ है, तो हमारा मन भी प्रसन्न रहेगा ।

सावधानियाँ :

व्यायाम करते समय कुछ सावधानियाँ भी बरतनी चाहिए। व्यायाम का चुनाव अपनी आयु, शारीरिक क्षमता आदि के अनुसार ही करना चाहिए। व्यायाम का समय धीर – धीरे बढ़ाना चाहिए। व्यायाम जहाँ तक संभव है खुले मैदान में, खाली पेट करना चाहिए। योगाभ्यास आदि किसी कुशल योगाचार्य के निरीक्षण में ही करने ठीक होते हैं।

व्यायाम न करने के नुकसान

व्यायाम न करने से शरीर पर कई प्रभाव पड़ते हैं। प्रतिरक्षा में कमी के कारण, अक्सर व्यक्ति को बीमार होने, शरीर में कमजोरी, शारीरिक विकास में बाधा जैसी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। अगर नियमित व्यायाम किया जाए तो इन सभी प्रकार की समस्याओं को दूर किया जा सकता है।

अनिद्रा

जो लोग शारीरिक गतिविधियों में भाग नहीं लेते हैं उन्हें अक्सर नींद आने में समस्या होती है। ऐसे लोगों का दिमाग शांत नहीं होता है। उच्च स्तर के तनाव के कारण लोग अनिद्रा से पीड़ित होने लगते हैं। अगर आप रोजाना व्यायाम करते हैं तो नींद अच्छी आएगी।

सहनशक्ति में कमी

नियमित व्यायाम से शरीर की सहनशक्ति बढ़ती है, इसके साथ ही व्यायाम न करने वालों में आलस, थकान और कमजोरी भी आती है। ऐसे लोग कुछ देर काम करने के बाद थक जाते हैं। व्यायाम न करने वाले लोग सीढ़ी पर चलते या चढ़ते समय भी जल्दी थक जाते हैं।

गरीब चयापचय

व्यायाम न करने से शरीर का मेटाबॉलिज्म खराब हो जाता है। शरीर के सभी कार्य प्रभावित होते हैं। ऐसे लोग भूख न लगना, भोजन का झुकना और पाचन संबंधी समस्याओं से भी पीड़ित होते हैं। ऐसे में अगर आप रोजाना व्यायाम करते हैं तो इस तरह की समस्या से बचा जा सकता है।

चेहरे की झुर्रियाँ

अगर आप लंबे समय तक जवान बने रहना चाहते हैं तो रोजाना व्यायाम करें। जो लोग नियमित व्यायाम नहीं करते हैं, उनके चेहरे पर उम्र से पहले झुर्रियां पड़ जाती हैं। चेहरे पर धुंधलापन आदि समस्याएं होने लगती हैं। चेहरे पर चमक व्यायाम की तुलना में कम है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.