सामान्य ज्ञान

विश्व के महाद्वीप

विश्व में सात महाद्वीप हैं- एशिया अफ्रीका उत्तरी अमेरिका दक्षिणी अमेरिका यूरोप ऑस्ट्रेलिया अंटार्कटिक एशिया महाद्वीप एशिया महाद्वीप विश्व का सबसे बड़ा महाद्वीप है जिसके अंतर्गत विश्व की 60% जनसंख्या आती है। इसमें चीन की जनसंख्या सर्वाधिक है एवं द्वितीय स्थान पर भारत आता है। क्षेत्रफल की दृष्टि से चीन सबसे बड़ा एवं सिंगापुर सबसे छोटा देश है। यह पुरातन काल से ही समृद्ध सभ्यताओं की जननी रहा है। इसमें असीरियन, मोसेपोटामिया, सुमेरियन एवं सिंधु जैसे सभ्यताएं फली-फूली हैं। यह महाद्वीप विविधताओं से संपन्न है इसमें एक और माउंट एवरेस्ट पर्वत जैसा उच्चतम बिंदु है तो दूसरी ओर मृत सागर जैसा निम्नतम बिंदु भी है। इसमें विभिन्न पठार जैसे गोबी, लोयस, अरब, दक्कन के पठार आदि हैं। ब्रह्मपुत्र, दजला, फरात, …

विश्व के महाद्वीप Read More »

भारत में कंपनी राज का प्रभाव

अंग्रेजों ने भारत के विशाल साम्राज्य पर कब्जा जमाने के बाद उस पर नियंत्रण रखने और शासन चलाने के तरीके तैयार किए। प्लासी के युद्ध 1757 ईस्वी से प्रथम स्वतंत्रता संग्राम 1857 ईस्वी की 100 वर्षों की लंबी अवधि के दौरान भारत पर कंपनी की पकड़ को बनाए रखा और सुदृढ़ करने की प्रशासनिक नीति में अक्सर बदलाव आता रहा। भारत में कंपनी राज का प्रभाव के बारे में आज हम जनेगे। अंग्रेजी शासन का प्रशासनिक ढांचा इन्हीं उद्देश्यों को पूरा करने के लिए बनाया गया था। सबसे अधिक जोर कानून और व्यवस्था को बनाए रखने पर दिया जाता था, जिससे बिना रुकावट के भारत के साथ व्यापार किया जा सके तथा उसके भौतिक एवं प्राकृतिक संसाधनों का अधिक से …

भारत में कंपनी राज का प्रभाव Read More »

pollution, factory, industry

संक्रमित रोग

रोग मानव शरीर के किसी अंग द्वारा असामान्य कार्य है। संक्रमित रोग के बहुत से विभिन्न कारण होते हैं। कुपोषण के कारण अल्पहीनता रोग उत्पन्न होता है शरीर द्वारा किसी एंजाइम या हार्मोन उत्पादन के असफलता के कारण भी दो पैदा होता है। सूक्ष्म जीवों द्वारा रोग उत्पन्न होता है। हमारे आस पास बहुत से विभिन्न प्रकार के सूक्ष्म जीव पाए जाते हैं। इनमें कुछ सूचना जो हमारे लिए बहुत लाभदायक होते हैं वे हमारे लिए इतने आवश्यक हैं, जितना वायु जल तथा वृक्ष बहुत से सूक्ष्म जीव हमारे लिए हानिकारक होते हैं। जो वनस्पति जंतुओं तथा मनुष्यों में रोग उत्पन्न करते हैं। यह सूक्ष्मजीव उत्पन्न करने वाले या रोग पैदा करने वाले सूक्ष्म जीव कहलाते हैं। रोग उत्पन्न करने …

संक्रमित रोग Read More »

coronavirus, corona, quarantine

भारत में अंग्रेजी राज्य की स्थापना

अंग्रेज, फ्रांसीसी व अन्य यूरोपीय की तरह भारत में व्यापार करने के लिए आए थे, लेकिन धीरे-धीरे भारत में अपना राज्य स्थापित कर लिया। भारत में अंग्रेजी राज्य के स्थापना की कहानी इस प्रकार है लिए उन्होंने कौन-कौन से तरीके अपनाए। 18वीं शताब्दी में मुगल साम्राज्य की शक्ति क्षीण होने पर प्रांतीय एवं क्षेत्रीय शासकों ने अपनी स्वतंत्र सत्ता स्थापित कर ली थी।इनमें बंगाल (बिहार और उड़ीसा),अवध,हैदराबाद,मैसूर और मराठा प्रमुख थे।मुगल बादशाह का नियंत्रण नाम मात्र का रह गया था।इसी सदी में यूरोप में,फ्रांस और इंग्लैंड के बीच विश्व में उपनिवेश व व्यापार से ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए कई वर्षों तक निरंतर युद्ध होते रहे। दोनों देशों के व्यापारी इतने अमीर हो गए थे कि अपने अपने …

भारत में अंग्रेजी राज्य की स्थापना Read More »

battle, battlefield, canon

यूरोपीय शक्तियों का भारत आगमन

प्राचीन काल से ही भारत का विदेशों से संपर्क रहा है। 16 वीं शताब्दी से भारत से व्यापार करने के लिए यूरोपीय शक्तियों का भारत आगमन प्रारम्भ हुआ। जिसमें पुर्तगाली ,डच ,फ्रांसीसी और ब्रिटिश प्रमुख थे। प्रथम मार्ग फारस की खाड़ी से होता हुआ समुद्र मार्ग का जिस मार्ग से इराक तुर्की वेनिस और जिनेवा से व्यापार होता था। दूसरा मार्ग लाल सागर से अलेक्जेंड्रिया का था जहां से समुद्र द्वारा वेनिस और जिनेवा को जाया जाता था। तीसरा मार्ग मध्य एशिया से मिस्र और फिर यूरोप के लिए था। इस प्रकार से यूरोप के सभी क्षेत्रों में भारत की वस्तुओं के वितरण के लिए वेनिस और जिनेवा प्रमुख व्यापारिक केंद्र थे। इटली ने भारत की प्रमुख वस्तुओं के व्यापार …

यूरोपीय शक्तियों का भारत आगमन Read More »

यूरोपीय शक्तियों का भारत आगमन

भारत में यूरोपियों का आगमन

पुर्तगाली 1486 ईस्वी में पुर्तगाली नाविक बर्थोलेमा उत्तमाशा अंतरीप तथा 1498 ईस्वी में वास्को डी गामा ने भारत की खोज की। प्रथम पुर्तगीज तथा प्रथम यूरोपीय यात्री वास्कोडिगामा 90 दिन की यात्रा कर अब्दुल मुनीर नाम गुजराती पथ प्रदर्शक की सहायता से 17 मई 1498 ईस्वी को कालीकट के बंदरगाह पर पहुंचा वहां उसका स्वागत वहां के राजा जमोरिन ने किया किंतु कालीकट के समुद्र तटों पर पहले से ही व्यापार कर रहे हैं अरबों ने उसका विरोध किया वह 1499 ईस्वी में पुत्र गाली लौट आया वह जिस माल को लेकर वापस लौटा हुआ पूरी यात्रा की कीमत के साथ गुना दामों पर बिका। 1503 इसी में अल्फांसो दी अल्बूकर्क सेना का कमांडर तथा 1509 ईस्वी में भारत में …

भारत में यूरोपियों का आगमन Read More »

भारत में यूरोपियों का आगमन

प्रसिद्ध गुफाएं स्तूप एवं चैत्य

आज प्राचीन काल महत्वपूर्ण गुफाएं, स्तूप, चैत्य गृह के बारे में और अधिक जनेगे। गुफाएं अजंता गुफाएं एलोरा गुफाएं अमरावती एलिफेंटा बाघ की गुफा अजंता गुफाएं अजंता गुफाएं जलगांव से 64 किलोमीटर या औरंगाबाद से 104 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं किंतु इतना विदित है की गुफाओं का निर्माण ईसा से 2 शताब्दी पूर्व प्रारंभ हुआ यह तथ्य गुफा नंबर 9 और 10 के चित्र और लेखों से सिद्ध होता है अजंता की गुफाओं का निर्माण कार्य लगभग 1000 वर्ष तक चला। अजंता में कुल 30 गुफाएं हैं। उनमें पांच आयत मंदिर और शेष जनसभा और निवास के लिए बड़े हाल है। चाहत हाल में पत्थर का काम आश्चर्यजनक है। गुफाओं के बाहरी भाग पर अत्यधिक सजावट है। अजंता …

प्रसिद्ध गुफाएं स्तूप एवं चैत्य Read More »

गुफाए