सामाजिक परिवर्तन एवं नियंत्रण

सामाजिक परिवर्तन एवं नियंत्रण

सामाजिक परिवर्तन एवं नियंत्रण प्रश्न पत्र बी०ए० पाठक्रम के समाजशास्त्र विषय के अंतर्गत आता है। यहां संपूर्ण पाठ्यक्रम पर आधारित कोर्स प्रस्तुत है। संपूर्ण पाठ्यक्रम को चार भागों में विभाजित किया गया है।

यूनिट-1: सामाजिक परिवर्तन के आशय एवं प्रकृति तथा जेविकीय घटक के बारे में बताया गया है।
यूनिट-2: सामाजिक परिवर्तन के जननांगकी घटक, तकनीकी आर्थिक घटक, सांस्कृतिक घटक, सूचना प्रौद्योगिकी घटक तथा परिवर्तन के सिद्धांत के बारे में बताया गया है।
यूनिट-3: सामाजिक प्रक्रिया औद्योगिकरण, नगरीकरण, आधुनिकीकरण, संस्कृतिकरण, सामाजिक विकास तथा भारत में सामाजिक परिवर्तन के बारे में बताया गया है।
यूनिट-4: सामाजिक नियंत्रण के अंतर्गत उसकी अवधारणा आ सकता सिद्धांत एवं अभिकरण के बारे में बताया गया है। यहां इस कोर्स में समाज मैं होने वाले दिन प्रतिदिन की क्रियाओं को अच्छे ढंग में समझ सकते हैं।

असफलता के कारण

सामाजिक परिवर्तन एवं नियंत्रण

सामाजिक परिवर्तन एवं नियंत्रण

यूनिट-1

  1. सामाजिक परिवर्तन: आशय एवं प्रकृति
  2. सामाजिक परिवर्तन के जैविकीय घटक

यूनिट-2

  1. सामाजिक परिवर्तन के जननांकीय की घटक
  2. सामाजिक परिवर्तन के तकनीकी एवं आर्थिक घटक
  3. सामाजिक परिवर्तन के सांस्कृतिक घटक
  4. सामाजिक परिवर्तन के सूचना प्रौद्योगिकी घटक
  5. सामाजिक परिवर्तन के सिद्धांत

यूनिट-3

  1. सामाजिक प्रक्रिया
  2. औद्योगिकरण
  3. नगरीकरण
  4. आधुनिकीकरण
  5. संस्कृतिकरण
  6. सामाजिक विकास
  7. भारत में सामाजिक परिवर्तन

यूनिट-4

  1. सामाजिक नियंत्रण: अवधारणा आवश्यकता व महत्वम् प्रकार
  2. सामाजिक नियंत्रण के सिद्धांत एवं अभिकरण

Responses

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.